स्कूल / कॉलेज में Fail या Dropout जो बाद में IAS और IPS अधिकारी बने

स्कूल / कॉलेज में Fail या Dropout जो बाद में IAS और IPS अधिकारी बने

 संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा हर साल आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा (CSE) भारत मे  सबसे चुनौतीपूर्ण परीक्षाओं में से एक है। यह परीक्षा तीन-चरण में आयोजित होती है। CSE को क्रैक करना आसान नहीं है। अभ्यर्थी कई साल इसे पास करने और तैयारी में खर्च करते हैं। हालांकि, कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जिन्होंने स्कूल / कॉलेज में Fail होने या Drop करने के बावजूद भी, IAS और IPS अधिकारी अपनी मेहनत से बन कर दिखाया। ऐसे ही कुछ सिविल सेवक हैं जिनके ऊपर यह लेख लिखा गया है।
Read also...Mr Varun Kumar Baranwal success story, tire puncture shop to IAS officer

Rukmani Riar, UPSC CSE-2011, AIR-2 | Gaurav Agarwal, CSE-2013 AIR-1 | गौरव अग्रवाल स्नातक में असफल रहे।  2014 बैच के आईएएस अधिकारी गौरव अग्रवाल ने CSE-2013 में एआईआर -1 हासिल किया


#1 Rukmani Riar, UPSC CSE-2011, AIR-2

Rukmani Riar, जो कक्षा -6 में असफल रहीं, ने CSE में AIR-2 हासिल किया । Rukmani Riar,  राजस्थान कैडर की 2012 बैच की आईएएस (IAS) अधिकारी हैं। उन्होंने UPSC CSE-2011 में अपने पहले ही प्रयास में अखिल भारतीय द्वितीय रैंक हासिल की। जब वह स्कूल में थी, तब वह कक्षा -6 में Fail हो गई, लेकिन उस घटना के बाद उन्होंने कड़ी मेहनत करने का मन बनाया, यह महसूस करते हुए कि दृढ़ता के साथ, कुछ भी असंभव नहीं है। रुक्मणी वर्तमान में राजस्थान में बूंदी के जिला मजिस्ट्रेट हैं।
Read also...Mr Ansar Shaikh success story, auto driver son to become IAS officer

#2 गौरव अग्रवाल, CSE-2013 AIR-1 

गौरव अग्रवाल स्नातक में असफल रहे।  2014 बैच के आईएएस अधिकारी गौरव अग्रवाल ने CSE-2013 में एआईआर -1 हासिल किया। विशेष रूप से, 16 साल की उम्र में, उन्होंने IIT-JEE को  पास किया और IIT-कानपुर में शामिल हो गए थे। हालांकि, आईआईटी-कानपुर में, वह एक सेमेस्टर में असफल हो गये और उन्हें स्नातक पूरा करने के लिए अतिरिक्त समय बिताना पड़ा। हालांकि, उस असफलता ने उन्हें न केवल मजबूत बनाया वरन वह आईआईएम-लखनऊ में स्वर्ण पदक विजेता और सीएसई टॉपर बन गये।

#3 Umesh Ganpat Khandbahale UPSC CSE 2014, AIR-704

 यह आईपीएस अधिकारी अपने एचएससी परीक्षा में असफल हो गया था। उमेश गणपत खंडबाहले पश्चिम बंगाल कैडर के 2015 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। महाराष्ट्र के नासिक जिले के माहिरावानी गाँव के रहने बाले है। वह अपनी HSC (हायर सेकेंडरी स्कूल सर्टिफिकेट) की परीक्षा पास करने में असफल हो गए थे । वह अंग्रेजी में असफल हो गए थे। हालांकि, अपनी विफलता को पीछे छोड़ते हुए, उमेश ने फिर से अध्ययन करना शुरू कर दिया और यहां तक कि अपने तीसरे प्रयास में AIR-704 के साथ CSE 2014 को Crack भी किया।
Read also...Mr Vijay Gurjar success story constable to IPS

#4 K Elambahavath CSE 2015, AIR -117  

 यह IAS अधिकारी 2016 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। पिता की मृत्यु के बाद आर्थिक तंगी के कारण उन्हें कक्षा -12 में स्कूल छोड़ना पड़ा। कई चुनौतियों और कठिनाइयों के बावजूद, उन्होंने 19 साल बाद आईएएस अधिकारी बनने का अपना सपना हासिल किया जब उन्होंने CSE 2015 में AIR -117 हासिल किया। वह वर्तमान में तमिलनाडु के वेल्लोर में रानीपेट के उप-कलेक्टर हैं।
Read also...
  1. Indian Police Service (IPS) Officer training Schedule
  2. DSP (Deputy Superintendent of Police) Training Schedule
  3. पुलिस सब इंस्पेक्टर प्रशिक्षण | Police Sub Inspector training in Hindi | Police Daroga ki training
  4. यूपी पुलिस कांस्टेबल का प्रशिक्षण कार्यक्रम 2018 | Police Constable Ki Training Kesi Hoti Hai
  5. FIR police complaint format in Hindi
  6. Equipercentile The method in Hindi | Normalisation in Hindi
  7. 50 % Ceiling in Reservation - Milestone Judgement Indra Sawhney vs Union of India 1992
  8. Difference between Judge and Magistrate in Hindi
  9. Deputation from UP Police to State Departments and Central Departments
  10. Police Station Crime Register (Records) | पुलिस थाना का अपराध रजिस्टर
  11. Scope Of Inquiry by the Police at the Time Of Registration Of FIR (First Information Report)
  12. UP ATS (Anti Terror Squad), SPOT (Special Police Operations Group)- Complete Details In Hindi

Post a Comment

0 Comments