UP Police Medical Test in Hindi- Complete Details | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details



UP Police Medical Test in Hindi- Complete Details | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details 

Hello दोस्तों, आज इस लेख में, मैं आपको बताऊंगा की उत्तर प्रदेश पुलिस में Medical Test कैसे होता है। Medical Test में किन किन अंगो का Medical Test होता है। Army हो या Para-Military Force या State की पुलिस सभी जगह पर मेडिकल परिक्षण (Medical Test) होता है। यदि कोई Medical Test में सफल नहीं होता है तो वो असफल माना जाता है। उत्तर प्रदेश पुलिस में जो मेडिकल होता है वो Army हो या Para-Military Force से आसान होता है। फिर भी यदि आप Medical Test में Fit नहीं है तो आप नियुक्ति के पात्र नहीं रहते हो।

उतर प्रदेश पुलिस में उप-निरीक्षक हो या कांस्टेबल सभी का Medical Test एक जैसा ही होता है। अतः मैं इस लेख में उपरोक्त दोनों के Medical Test के बारे में बताऊंगा।
UP Police Medical Test in Hindi | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details | up constable medical test | up si medical test

सबसे पहले जब आप Medical Test के लिए जाएं तो अपने सभी Documents साथ लेकर जाएँ जो आप Documents Verification के समय पर लेकर गए थे। आपका वहां पर Medical Test के साथ Documents भी चेक देखे जा सकते है। आप की Height, महिला कैंडिडेट्स की दशा में वजन भी मापा जाता है तथा पुरुष कैंडिडेट्स की दशा में सीना भी मापा जाता है। पुरुष और महिला कैंडिडेट्स की (उपनिरीक्षक तथा कांस्टेबल दोनों) नापतोल (Physical Requirements) निम्न प्रकार होनी चाहिए।

उपनिरीक्षक तथा कांस्टेबल नापतोल (Physical Requirements):

Category
Height(cm)
Chest unexpanded
Chest expanded
Male(GEN,OBC,SC)
168 cm
79 cm
84 cm
Male (ST)
160 cm
77 cm
82 cm
Female(GEN,OBC,SC)
152 cm
Not applicable
Not applicable
Female(ST)
147 cm
Not applicable
Not applicable
Female weight kg
40 kg
Not applicable
Not applicable

नोट: पुरुष उम्मीदवारों के लिए छाती का न्यूनतम 05 सेमी विस्तार आवश्यक है। 
Dosto आप इस Video की Visual तरीके से देख सकते हो -


Medical Test में निम्न शारीरिक अंगों का परिक्षण होता है-:

  1. Candidates के आपस में टकराते हुए घुटने नहीं होने चाहियें। काफी व्यक्ति ऐसे होते है जिनके घुटने आपस में टकराते है तो ऐसे व्यक्ति भर्ती के पत्र नहीं होते है। घुटने आपस में सटने नहीं चाहिए, घुटनों के बीच गैप होना चाहिए।
  2. Candidates के धनुषाकार पैर नहीं होने चाहिए। घुटनो के नीचे circle या arch नहीं होना चाहिए। मतलब कि पैर धनुषाकार न हो, जोड़ों में कहीं भी असामान्यता न हो
  3. Candidates के पैरों के तलवे फ्लैट नहीं होने चाहियें। तलवों के बीच का भाग उभरा हुआ होना चाहिए। मतलब कि पैर फ़्लैट न हो. अंगूठों में हेलिक्स न हो.
  4. छाती अन्दर धंसी न हों. उभरे और स्वस्थ मसल्स होने चाहिए
  5. अभ्यर्थी की सुनने की क्षमता अच्छी हो
  6. अभ्यर्थी की आँखें Colour Blindness से मुक्त हो. आँखें लाल, हरा (Red, green) की पहचान करने में सक्षम हो.
  7. अभ्यर्थी का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ अच्छा होना आवश्यक है
  8. आँखे थोड़े से प्रकाश में हीं चकाचौंध न होती हो.
  9. हड्डियों में कहीं असामान्यता नहीं हो
  10. अभ्यर्थी के आँखों की दूर दृष्टि और निकट दृष्टि सामान्य हो. यानि बिना चश्मे की दृष्टि क्षमता होनी चाहिए.
  11. उपरोक्त के अलाबा अभ्यर्थियों का ब्लड प्रेशर, पेशाव का टेस्ट इत्यादि भी किये जाते है।
UP Police Medical Test in Hindi | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details | up constable medical test | up si medical test

UP Police Medical Test in Hindi | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details | up constable medical test | up si medical test


Medical Test में फ़ैल होने की दशा में Candidates चाहे किसी भी Category का हो सेवा-नियामवली के अनुसार पुलिस भर्ती के लिए अयोग्य होता है। इस में Fail होने का मतलब है आपकी सारी मेहनत पर पानी फिर जाना।

आप Medical Test से पहले मेरी सलाह है कि आप सरकारी अस्पताल में जाकर Medical Test जरूर कराएं। यदि हो सके तो आप पुलिस में आवेदन करने से पहले ही अपना Medical Test करा लें। इससे आपके अंदर आत्म विश्वास आएगा। आज के लेख के लिये जय हिन्द जय भारत।

दोस्तों आप UP SI Medical Examinations and Appointment Letter की प्रक्रिया Visual तरीके से नीचे  Video देखकर जान सकते है- 

Read also...
  1. पुलिस सब इंस्पेक्टर प्रशिक्षण | Police Sub Inspector training in Hindi | Police Daroga ki training
  2. यूपी पुलिस कांस्टेबल का प्रशिक्षण कार्यक्रम 2018 | Police Constable Ki Training Kesi Hoti HaiEquipercentile Method in Hindi | Normalisation in Hindi
  3. 50 % Ceiling in Reservation - Milestone Judgement Indra Sawhney vs Union of India 1992
  4. Difference between Judge and Magistrate in Hindi | What is Civil Case and Criminal Case In Hindi 
  5. A deputation from UP Police to State Departments and Central Departments
  6. Police Station Crime Register (Records) | पुलिस थाना का अपराध रजिस्टर
  7. Scope Of Inquiry by the Police at the Time Of Registration Of FIR (First Information Report)

UP Police Medical Test in Hindi- Complete Details | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details UP Police Medical Test in Hindi- Complete Details | UP SI, Constable Medical Test- Complete Details Reviewed by Mehtab singh chauhan on April 05, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.