पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को दी जाने वाली खुराक की दरों में वृद्धि | Increase in Dose Rates Given to Detained Persons / Prisoners in Police custody

पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को दी जाने वाली खुराक की दरों में वृद्धि | Increase in Dose Rates Given to Detained Persons / Prisoners in Police custody

ब पुलिस पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को कोर्ट में पेश करने जाती है तो उन बिचारधीन बंदियों को सुबह तथा शाम को खाना खिलाया जाता है तो अब तक उसके लिए 5 /- रुपए प्रति दिन  के हिसाब से दो बार खाना की खुराक 10 /- रुपए निर्धारित थी जिसे इस शासनादेश से परिवर्तित किया गया है।

उत्तर प्रदेश पलिस मुख्यालय, प्रयागराज के पत्र संख्या-आध-3/ख-146-2005 दिनांक 07-06-2019 के द्वारा थानों पर पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को दी जाने वाली खुराक की दरों में वृद्धि की गयी है।

उक्त प्रस्ताव में अवगत कराया गया कि शासनादेश संख्या-2268पी/आठ-6-89-1678/78 दिनांक 30-11-1989 द्वारा पुलिस अभिरक्षा में रखे गये विचाराधीन बन्दियों को दी जाने वाली खुराक दरों को प्रति बन्दी के स्थान पर समान रूप से एक समय के भोजन के लिए रू0 05/- मात्र प्रति बन्दी तथा दो समय के भोजन के लिए रू0 10/- मात्र प्रति बन्दी निर्धारित किया गया था।

 लगभग 27 वर्ष उपरान्त भी थानों में पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध बन्दियों को दी जाने वाली खाक की दरों में वृद्धि नहीं की गयी है जबकि मंहगाई में कई गुना बढोत्तरी हो चुकी है।

उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय, प्रयागराज द्वारा उक्त प्रस्ताव एवं एक लम्बे अरसे तक खुराक की दरों में वृद्धि न होने आदि तथ्यों का संज्ञान लेते हुए सम्यक विचारोपरान्त श्रीराज्यपाल महोदय द्वारा पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को दी जाने वाली खुराक की दरों में वृद्धि  की गयी है।  पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को दी जाने वाली खुराक की दरों में वृद्धि करते हुए भोजन हेतु रूपये 25-/ तथा रूपये चाय हेतु 05/-) अर्थात् कुल रूपये रूपये 30/- (रूपया तीस मात्र) प्रतिदिन प्रति बन्दी के हिसाब से तात्कालिक प्रभाव से निर्धारित किये गया है।

चिक खुराक के लिए  बाकायदा पुलिस थाना पर एक रजिस्टर भी रखरखाव किया जाता है। जिसको पुलिस थाना पर प्रचलित रोज़नामचा आम में भी लिखा जाता ह।  चिक खुराक को पुलिस अभिरक्षा में निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों को पेश करने बाले पुलिस कर्मी claim करते है तब उन्हें चिक खुराक मिलती है निरुद्ध व्यक्तियों/ बन्दियों की।  
  • आर्टिकल को Visual तरके से निचे वीडियो को क्लिक कर देखें -


Read also...
  1. Indian Police Service (IPS) Officer training Schedule
  2. DSP (Deputy Superintendent of Police) Training Schedule
  3. पुलिस सब इंस्पेक्टर प्रशिक्षण | Police Sub Inspector training in Hindi | Police Daroga ki training
  4. यूपी पुलिस कांस्टेबल का प्रशिक्षण कार्यक्रम 2018 | Police Constable Ki Training Kesi Hoti Hai
  5. FIR police complaint format in Hindi
  6. Equipercentile The method in Hindi | Normalisation in Hindi
  7. 50 % Ceiling in Reservation - Milestone Judgement Indra Sawhney vs Union of India 1992
  8. Difference between Judge and Magistrate in Hindi
  9. Deputation from UP Police to State Departments and Central Departments
  10. Police Station Crime Register (Records) | पुलिस थाना का अपराध रजिस्टर
  11. Scope Of Inquiry by the Police at the Time Of Registration Of FIR (First Information Report)
  12. UP ATS (Anti Terror Squad), SPOT (Special Police Operations Group)- Complete Details In Hindi

Post a comment

0 Comments