Police Stamp Importance on Complaint | शिकायत पर पुलिस Stamp का महत्व


Police Stamp Importance on Complaint | शिकायत पर पुलिस Stamp का महत्व

मस्कार दोस्तों, मैं इस लेख में आपको बताऊंगा की आपके शिकायत पर पुलिस थाना के ठप्पा लगने का क्या महत्व है| आपने अक्सर देखा होगा की जब कोई शिकायतकर्ता थाना पर अपनी शिकायत लेकर जाता है तो उसकी शिकायत पर पुलिस थाना का ठप्पा लगा देती है| पुलिस थाना का ठप्पा लगने से आपकी शिकायत को पुलिस रजिस्टर में एंट्री करती है और नियमानुसार कारवाही करती है | पुलिस उस शिकायत को रोज़नामचा आम में एंट्री करती है जिस शिकायत में किसी के सामान की गुम होने की सुचना हो जैसे डेबिट कार्ड , क्रेडिट कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस या कोई अन्य दस्तावेज|

Youtube video for this Article here-




थाने का ठप्पा:

कई बार पुलिस शिकायत पर ही थाने का ठप्पा लगा कर उसे शिकायतकर्ता को थमा देती है। बहुत से  लोग इसे एफ.आई.आर. या प्राथमिकी समझ लेते हैं। वैसे यह ठप्पा महत्त्वहीन नहीं होता। कोई वाहन, पहचान पत्र अथवा अन्य कोई वस्तु जैसे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड इत्यादि चोरी हो जाती है और शिकायत पर थाने का ठप्पा लग गया, तो यह बड़े काम की चीज है। गाड़ी अथवा अन्य वस्तु के गलत इस्तेमाल की सूचना पर यह ठप्पा आपको पुलिस से बचाएगा। ठप्पे वाली शिकायत की भी जाँच की जाती है। एस.एच.ओ. इसे जांच अधिकारी को मार्क करते हैं। अगर कोई व्यक्ति आपके खोये हुए दस्तावेज का गलत इस्तेमाल करता है तो आप उस ठप्पे वाली शिकायत दिखाकर बच जाओगे | आपके पास सबूत होता है की आपने अपने खोये हुए दस्तावेज की शिकायत पुलिस को दी थी | फिर उसके गलत इस्तेमाल पर भी पुलिस आपका कुछ नहीं कर पायेगी |
हाल में कई राज्यों में सामान गुम होने की दशा में ऑनलाइन शिकायत लेने की प्रक्रिया शुरू की है, जिससे शिकायतकर्ता का थाने आने का समय बचता है और तत्काल शिकायत प्राप्ति रसीद प्रिन्ट के रूप में प्राप्त हो जाती है, जिससे शिकायतकर्ता के समय और धन की बचत होती है। यह रिसिप्ट उसे अग्रिम प्रक्रिया में काफी मददगार होती है। राजस्थान, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों ने ऑनलाइन शिकायत की सुबिधा अपने राज्यों के नागरिको को दी है|
 उत्तर प्रदेश में JANSUNWAI पोर्टल ऑनलाइन शिकायत करने के लिए ही है| इससे शिकायतों का जल्दी निपटारा होता है| जिन लोगो की प्रथम सुचना रिपोर्ट नहीं लिखी जाती है वो अपनी शिकायत ऑनलाइन कर देते है  तो सम्वन्धित थाना को मुक़दमा भी लिखना पड़ता है |

पुलिस डॉक्यूमेंट्स की आवश्यकता

1. क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड गुम होने या चोरी होने पर :कार्ड ब्लॉक कराने के लिए किसी पुलिस डॉक्यूमेंट की आवश्यकता नहीं होती है|
2. मोबाइल गुम या चोरी हो जाने पर :सिम कार्ड ब्लॉक करने के लिए किसी पुलिस डॉक्यूमेंट की जरूरत नहीं होती है किन्तु मोबाइल की रिकवरी के लिए शिकायत को पुलिस को देना पड़ता है| पुलिस को यह भी बताना पड़ता है कि आपका मोबाइल का IMEI number तथा सिम नंबर बताना पड़ता है|
3. ड्राईविंग लाइसेंस गुम या चोरी हो जाने पर :डुप्लीकेट लाइसेंस लेने के लिए पुलि एफ.आई.आर. की जरूरत होती है। चोरी होने पर प्रथम सुचना रिपोर्ट कि जरुरत होती है तथा गुम होने पर शिकायत को रोज़नामचा आम में एंट्री कर थाना प्रभारी किसी को जाँच करने को दे देता है | शिकायत पर ठप्पे हीओने से नयी ड्राइविंग लाइसेंस निकलवा सकते है |
4. आई. कार्ड गुम या चोरी हो जाने पर :दूसरा कार्ड लेने के लिए पुलिस एफ.आई.आर. की जरूरत होती है। गुम होने पर शिकायत पर मुकदम नहीं लिखा जाता सिर्फ उसे रोज़नामचा आम में लिखा जाता है और शिकायत पर मोहर लगा दी जाती है |
इस तरह से पुलिस के ठप्पे यानि पुलिस स्टाम्प का बहुत महत्व होता है |
 Read also...
  1. भारतीय पुलिस अधिकारी की रैंक और बेज | Indian Police officer Rank and Badges | Indian Police officer Rank and Badges in Uttar Pradesh
  2. पुलिस चालान के नियम तथा नागरिकों के अधिकार | Citizen Rights during Police Challan
  3. पुलिस FIR दर्ज न करे तो क्या करें
  4. FIR और NCR में अंतर
  5. झूठी FIR से कैसे बचें | How to Cancel Fake FIR (Section 482 Crpc)
  6. FIR कौन दर्ज करा सकता है
  7. FIR के लिए प्रार्थना पत्र में क्या क्या लिखा जाता है
  8. FIR police complaint format hin hindi
  9. Legal Action for False FIR

Police Stamp Importance on Complaint | शिकायत पर पुलिस Stamp का महत्व Police Stamp Importance on Complaint | शिकायत पर पुलिस Stamp का महत्व Reviewed by YourPoliceGuide on December 07, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.