पुलिस की शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time Limit in Hindi


पुलिस की शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time Limit in Hindi

Hello दोस्तो, आज इस लेख में मैं बताने वाला हूं पुलिस को शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time limit के बारे में। पुलिस को विभिन्न माध्यमों से शिकायती प्रार्थना पत्र (Complaint) प्राप्त होते हैं। पुलिस को प्रत्यक्ष उपस्थित होकर भी प्रार्थना दिए जाते हैं तथा डाक, रजिस्ट्री से भी प्रार्थना पत्र प्राप्त होते हैं। पुलिस थाना पर भी प्रार्थना पत्र दिए जाते हैं तथा उच्च अधिकारियों को भी प्रार्थना पत्र दिए जाते हैं। पुलिस को शासन और आयोगों से भी प्रार्थना पत्र थाना पर जांच हेतु आते हैं तो ऐसे में यह जानना आवश्यक है कि पुलिस को जो प्रार्थना पत्र दिए जाते हैं उनके निस्तारण की प्रक्रिया क्या है तथा समयावधि क्या है। किस समयावधि के अंदर जांच अधिकारी को जांच कर वापस करना होता है। सामान्यतः प्रार्थना पत्रों का रखरखाव 1 वर्ष या 2 वर्ष होता है। प्रार्थना पत्रों के रखरखाव के बारे में जानकारी है तो हम सूचना के अधिकार अधिनियम से जांच रिपोर्ट या अन्य दस्तावेजों को मांग सकते हैं।

पुलिस की शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time Limit in Hindi

Read also...
  1. Human Right Protection Guidelines by Honourable Supreme Court of India In Hindi | सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मानव अधिकार संरक्षण संबंधी निर्देश
  2. Citizen Rights against Police Department in Hindi | पुलिस विभाग से संबधित नागरिक अधिकार क्या है?

1-पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) के समक्ष व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर दी गयी शिकायतों का निस्तारण किया जानाः


कृ0सं0
कार्य
किसके द्वारा कार्यवाही होगी
कार्यवाही की समयावधि
1
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा समबन्धित सर्किल के क्षेत्राधिकारी द्वारा जॉच एवं आवश्यक कार्यवाही हेतु आदेशित करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा
अविलम्ब
2
प्रार्थना पत्र (Complaint) को डाकबही रजिस्टर में अंकित करना व जॉच अधिकारी (Enquiry Officer) को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) कार्यालय की शिकायत प्रकोष्ठ शाखा करना
01 दिवस
3
जॉच अधिकारी (Enquiry office) द्वारा जॉच एवं आवश्यक कार्यवाही  करके जॉच आख्या (Enquiry report) प्रेषित करना।

क्षेत्राधिकारी (CO)/प्रभारी
निरीक्षक (SHO)/थानाध्यक्ष (SO) द्वारा
07 दिवस
4
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) महोदय द्वारा जॉच रिर्पोट का परिशिलन करके अन्तिम आदेश (Final Order) करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा
02 दिवस में
5
प्रार्थना पत्र मय जॉच रिपोर्ट (Enquiry report) के दाखिल दफतर करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) कार्यालय की शिकायत प्रकोष्ठ शाखा द्वारा
01 दिवस में
6
शिकायत प्रकोष्ठ शाखा द्वारा जॉच रिपोर्ट (Enquiry report) का रख-रखाव

पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) कार्यालय की शिकायत प्रकोष्ठ शाखा द्वारा
01 वर्ष तक
  

इस आर्टिकल को आप Visual तरीके से देखें -


2- थानों पर प्राप्त प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की प्रकियाः


कृ0सं0
कार्य
किसके द्वारा कार्यवाही होगी
कार्यवाही की समयावधि
1
थाने (Police Station) पर प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर उसकी प्राप्ति स्वीकार करना
थानाध्यक्ष (SHO/SO) / दिवसाधिकारी (Day Officer)/ उपस्थित कां0 क्लर्क द्वारा
तत्काल
2
प्रार्थना पत्र (Complaint) प्रस्तुत वाले का नाम आगन्तुक रजिस्टर में अंकित करना
दिवसाधिकारी (day Officer)/ उपस्थित कां0 क्लर्क द्वारा
अविलंब
3
प्रार्थना पत्र (Complaint) को जनशिकायत रजिस्टर में अंकित करना
उपस्थित कांo क्लर्क द्वारा
अविलंब
4
जांच अधिकारी (Enquiry Officer) नियुक्त करना व जाँच हेतु  सौंपना
थाना प्रभारी (SO/SHO) द्वारा
1 दिवस
5
जांच अधिकारी (Enquiry Officer) द्वारा मौके पर जाकर जाँच करना व आवष्यक कार्यवाही (NA) करके रिपोर्ट देना
जांच अधिकारी (Enquiry officer) द्वारा

5 दिवस में
6
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा जाँच की समीक्षा करना
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा
1 दिवस
7
जॉच रिपोर्ट (Enquiry report) पर अग्रेतर कार्यवाही (Further action) ,यदि आवश्यक हो, कराना।
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा

अविलंब
8
जाँच रिपोर्ट (Enquiry report) का रखरखाव
सम्बन्धित कांo क्लर्क द्वारा

01 वर्ष तक

Read also....UP STF in Hindi | Special Task Force in Hindi | UP STF का गठनउद्देश्य तथा संगठन

3- पुलिस अधीक्षक को डाक से प्राप्त प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की प्रक्रियाः


कृ0सं0
कार्य
किसके द्वारा कार्यवाही होगी
कार्यवाही की समयावधि
1
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) कार्यालय की प्रधान लिपिक (Head Clerk) शाखा में उसकी प्राप्ति स्वीकार करना एवं पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) के समक्ष प्रस्तुत करना
सम्बन्धित लिपिक (Clerk) द्वारा
अविलम्ब
2
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा स्वयं या इस कार्य हेतु निमित्त राजपत्रित अधिकारी (Gazetted officer) द्वारा लिफाफे को खोला जाना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP)/निमित्त राजपत्रित अधिकारी (Gazetted officer) द्वारा
1 दिवस
3
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (CO) को जाँच एवं आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा
1 दिवस
4
प्रार्थना पत्र (Complaint) को डाकबही रजिस्टर में अंकित करना
सम्बन्धित लिपिक (Clerk) द्वारा
अविलम्ब
5
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (Circle officer) द्वारा प्रार्थना पत्र का परिशीलन कर या तो स्वयं जांच हेतु रखना या सम्बन्धित थानाध्यक्ष (SO/SHO) को द्वारा जाँच हेतु भेजना
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (CO)
2 दिवस
6
क्षेत्राधिकारी (CO) कार्यालय के कांo क्लर्क (CC) द्वारा आर्डर बुक करना
क्षेत्राधिकारी (CO) कार्यालय के कांo क्लर्क (CC) द्वारा
अविलम्ब
7
सम्बन्धित थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा प्रार्थना पत्र का परिशीलन कर या तो स्वयं जांच करना या सम्बन्धित उपनिरीक्षक (SI)/ बीट आरक्षी (Constable) को जाँच हेतु भेजना
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा
2 दिवस
8
जांच अधिकारी (Enquiry Officer) द्वारा मौके पर जाकर जाँच करना व आवश्यक कार्यवाही करके रिपोर्ट देना
जांच अधिकारी (Enquiry officer) द्वारा
7 दिवस में
9
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा जाँच रिपोर्ट की समीक्षा करके सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (Circle officer) को प्रेषित करना
थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा
अविलम्ब
10
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (Circle Officer) द्वारा जांच सही पाये जाने पर जाँच रिपोर्ट को दाखिल दफ्तर किया जाना
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (CO) द्वारा
अविलम्ब
11
जाँच रिपोर्ट (Enquiry report) का रखरखाव
क्षेत्राधिकारी (CO) कार्यालय के कांo क्लर्क (CC) द्वारा
02 वर्ष तक

Read also...ACO UP - Complete Details in Hindi | ACO (Anti Corruption Organisation) UP- सम्पूर्ण विवरण

4- पुलिस अधीक्षक को शासन, आयोगों व अन्य उच्च अधिकारीगणों के स्तर से प्राप्त प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की प्रक्रिया :


कृ0सं0
कार्य
किसके द्वारा कार्यवाही होगी
कार्यवाही की समयावधि
1
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा प्रार्थना पत्र (Complaint) का परिशीलन करके संबंधित अपर पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) /क्षेत्राधिकारी (CO) या थानाध्यक्ष (SO/SHO) को जाँच हेतु आदेशित करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा
1 दिवस
2
प्रार्थना पत्र (Complaint) को डाकबही रजिस्टर में अंकित करना व संबंधित को जांच हेतु प्रेषित करना
सम्बन्धित लिपिक (Clerk) द्वारा
 अविलम्ब
3
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (CO)/थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा प्रार्थना पत्र का परिशीलन कर स्वयं जांच करके आवश्यक कार्यवाही करना व रिपोर्ट देना
सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी (CO) / थानाध्यक्ष (SO/SHO) द्वारा
07 दिवस में
4
क्षेत्राधिकारी (CO)/थानाध्यक्ष (SO/SHO) कार्यालय के कांo क्लर्क द्वारा आर्डर बुक करना
क्षेत्राधिकारी (CO)/थानाध्यक्ष (SO/SHO) कार्यालय के कां0 क्लर्क द्वारा
अविलम्ब
5
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा जांच रिपोर्ट का परिशीलन करके सही पाये जाने पर संबंधित को रिपोर्ट प्रेषित करना
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) द्वारा
2 दिवस
6
जाँच रिपोर्ट (Enquiry report) का रखरखाव
पुलिस अधीक्षक (SP/SSP) के गोपनीय कार्यालय (Confidential office) के कांo क्लर्क द्वारा
02 वर्ष तक


Read also...
  1. Equipercentile Method in Hindi | Normalisation in Hindi
  2. 50 % Ceiling in Reservation - Milestone Judgement Indra Sawhney vs Union of India 1992
  3. Difference between Judge and Magistrate in Hindi | What is Civil Case and Criminal Case In Hindi 
  4. A deputation from UP Police to State Departments and Central Departments
  5. Police Station Crime Register (Records) | पुलिस थाना का अपराध रजिस्टर
  6. Scope Of Inquiry by the Police at the Time Of Registration Of FIR (First Information Report)
  7. UP ATS (Anti Terror Squad), SPOT (Special Police Operations Group)- Complete Details In Hindi
  8. Police Powers, Duties and Responsibilities In India- under Police Act, 1861, Police Regulation Act & Code Of Criminal Procedure, 1973 (in Hindi) Latest
पुलिस की शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time Limit in Hindi पुलिस की शिकायतों के निस्तारण की प्रक्रिया एवं समयावधि | Police Complaint Disposal Process and Time Limit in Hindi Reviewed by YourPoliceGuide on March 13, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.